हिन्दुस्तान24.लाइव

फरीदाबाद, 10 जून (राहुल चौधरी) :  केन्द्रीय आर्य युवक परिषद दिल्ली के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि भावी युवा पीढ़ी चरित्रवान व संस्कारवान बने यही आर्य समाज का लक्ष्य है इन शिविरों से निकले युवा ईश्वर भक्त व राष्ट्र भक्त बनेंगे। परिषद निरंतर युवाओं के निर्माण में संलग्न है। यह बात ग्रेटर फरीदाबाद स्थ्ति सैनी सीनियर सैकेन्डरी स्कूल में केन्द्रीय आर्य युवक परिषद् द्वारा आयोजित 8 दिवसीय युवक चरित्र निर्माण शिविर के समापन समारोह पर उपस्थित शिविरार्थियों एवं उनके अभिभावकों को संबोधित करते हुए कही। आर्य केन्द्रीय सभा फरीदाबाद के अध्यक्ष डा. गजराज सिंह आर्य ने समारोह में दीप प्रज्वल्लित करते हुए कहा कि आर्य समाज युवाओं में वैदिक संस्कार राष्ट्रीय भक्ति की भावना समाहित करने का प्रयास कर रही है ताकि वे समाज और राष्ट्र में अपनी सकारात्मक भूमिका निभा सकें। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एवं ऑल एस्कोर्ट एम्पलाइज्ड यूनियन के प्रधान वजीर डागर ने कहा कि पाश्चात् संस्कृति एवं बढ़ते सोशल मीडिया के कारण बच्चों का मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ रहा है। जिसके कारण युवाओं में सकारात्मक सोच की अपेक्षा मन दूसरी तरफ भटक रहा है। ऐसे शिविरों से युवा और बालकों में शारीरिक पुष्टता के साथ-साथ गुणकारी संस्कारों की शिक्षा मिलती है। ऐसे कार्यक्रम आयोजित किए जाते रहने चाहिए। संस्था के प्रधान जीतेन्द्र सिंह आर्य ने सभी आगंतुकों का धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम में कांग्रेस प्रवक्ता विकास चौधरी, सुरेश मित्तल, रोजी पंडित, जीवनलाल सैनी, महेश आर्य, सुभाष, श्योराण, हरपाल सैनी, सतपाल शास्त्री, वीरेन्द्र योगाचार्य, नन्दलाल कालड़ा, विद्याभूषण आर्य तथा विभिन्न आर्य समाजों के प्रधान और पदाधिकारी उपस्थित थे। इससे पूर्व शिविर में भाग लेने वाले बच्चों ने आग के गोले में होकर छलांग, मानव पुल निर्माण, विभिन्न प्रकार के योगा व लाठी प्रदर्शन कर लोगों का मन मोह लिया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें