हिन्दुस्तान24.लाइव
फरीदाबाद, 19 फरवरी (राहुल चौधरी): लोगों की लैप्स पालिसी को चालू करवाकर पैसा दिलवाने व बाद में इनकम टैक्स अधिकारी बनकर 49 लाख रुपए की ठगी करने वाले गिरोह के 4 और आरोपियों को साइबर अपराध शाखा की टीम ने गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है तथा आरोपियों के कब्जे से ठगी के 21 लाख 60 हजार रुपए बरामद किए है। एसीपी क्राइम अनिल यादव ने आज अपने कार्यालय सेक्टर 30 में प्रेस वार्ता में इस बात का खुलासा किया। गिरफ्तार अभियुक्तों में अविनाश उर्फ हिमांशु, मुकेश उर्फ गोलू, शंकर सिंह व रोहित शामिल है। इस केस में चार आरोपियों को साइबर अपराध शाखा पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। गौरतलब है कि आरोपियो ने पीडिता मोली रॉय निवासी सैनिक कालोनी फरीदाबाद से करीबन 49 लाख रुपए ठगे थे। प्रेस वार्ता के दौरान अनिल यादव ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ में सामने आया कि वे इंश्योरेंस कम्पनियों में काम कर रहे व्यक्तियों से किसी तरह लोगों का डाटा ले लेते थे। जिसकी पालिसी किसी कारण से बंद हो गई हो या उपभोक्ता ने पैसे भरने बंद कर दिए हो या किसी ने अपने पेंडिग डयूस लेने बारे किसी कम्पनी में आवेदन किया हो। आरोपी उन लोगों से इंश्योरेंस कम्पनी के कर्मचारी बनकर काल करते थे और उनको उनका पैसा दिलाने, उस पर ज्यादा इन्टरेंस्ट दिलाने, पैसे का डबल करने, अन्य नई इंश्योरेंस पॉलिसी देने का झांसा देकर अपने अकांउटो में पैसा डलवा लेते थे। उसके कुछ दिन बाद वो उस उपभोक्त के पास इन्कम टैक्स और प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी बन उनके उपर रेड की धमकी देकर कहते थे कि आप इतना पैसा कहां से लाए हो जो आपने इतनी मोटी रकम की पॉलिसी कराई है। ऐसा कर पैसे अपने अकांउटो में डलवाते थे। बाकयादा आरोपी फर्जी इन्कमटैक्स का आई. कार्ड व नोटिस का फर्जी लेटर लोगों को डराने के लिए उनके पास भेजते थे। इसी तरह उन्होंने पीडित मोली रॉय निवासी सैनिक कालोनी फरीदाबाद से भी तकरीबन 49 लाख रुपए ठग लिए थे। जिसके उपरान्त पीडित ने साईबर अपराध शाखा हाजिर आकर अपनी शिकायत दर्ज कराई थी। साईबर टीम ने साईबर तकनीक का प्रयोग करके, कडी मेहनत से पहले तीन अकाउंट प्रोवाईडर/होल्डर व एक काल सैन्टर संचालक को गिरफ्तार कर नीमका जेल भेजा जा चुका है। अब इसी क्रम में काल सैन्टर संचालको व कालर पार्टी के सदस्यो को गिरफ्तार किया गया। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि उपरोक्त गिरफ्तार चारों आरोपियों से वारदात में प्रयुक्त मोबाईल फोन, कांलिग के लिए प्रयोगशुदा फोन विभिन्न बैंकों के डेबिट कार्ड व करीबन 18,50000 रुपए बरामद हुए है व नीमका जेल मे बंद 4 आरोपियों से 3,10000 जो कुल 21,60000 रूपये बरामद हुए है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें